Cloudflare CDN क्या है? यह किसी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए क्यों फायदेमंद है?

Cloudflare CDN एक कॉन्टेंट डिलीवरी नेटवर्क है। Cloudflare अपने कुशल और ग्लोबल नेटवर्क की सहायता से किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग को सिक्योरिटी और अतिरिक्त क्षमता प्रदान करता है, ताकि वे शीघ्रता और बेहद कुशलता के साथ काम कर सके।

Cloudflare CDN का काम होता है, दुनियाँ भर में उपस्थित ग्लोबल CDN के द्वारा दर्शक के नजदीक उपथित डेटा सेंटर से वेबसाइट और ब्लॉग के डेटा को अपने दर्शकों के अनुरोध के अनुसार उपलब्ध कराना। जैसे, अगर किसी ब्लॉग में Cloudflare CDN का इस्तेमाल किया गया है, और उस ब्लॉग का होस्टिंग और सर्वर इंडिया में है। पर एक अमेरिकन दर्शक इस ब्लॉग को ब्राउज करना चाहता है, तो Cloudflare CDN अपने अमरीकी डेटा सेन्टर के द्वारा उस वेबसाइट के डेटा को उस दर्शक के लिए उपलब्ध कराएगा, जिससे अमेरिकन में उपस्थित CDN के द्वारा वेबसाइट खुलने में बहुत कम समय लगेगा।

Top Level Domain Names कैसे चुनें? – आपकी हिन्दी के 11 बेस्ट सुझाव।

इस प्रकार Cloudflare CDN अपने दुनिया भर में उपस्थित डेटा सेन्टर के माध्यम से दर्शकों की स्थिति के अनुसार वेबसाइट और ब्लॉग का डेटा उपलब्ध कराता है। जिससे Cloudflare को डेटा प्रोसेसिंग में बहुत कम समय लगता है। जिससे हमारी वेबसाइट की स्पीड और प्रदर्शन में सुधार होता है। जैसे यदि कोई सिंगापुर का विज़िटर है, तो Cloudflare सिंगापुर के डेटा सेन्टर का इस्तेमाल करेगा, अगर श्रीलंका का विजिटर है, तो cloudflare श्रीलंका के डेटा सेन्टर का इस्तेमाल करेगा।

Cloudflare CDN दुनिया भर में अबतक लगभग 152 डेटा केन्दों द्वरा संचालित है। किसी भी CDN का नेटवर्क दुनिया भर में जितना बड़ा होगा, वह उतना हीं अच्छे तरीके से वेबसाइट और ब्लॉग के लिए कार्य करेगा और सुरक्षा प्रदान कर सकेगा। प्रत्येक नए Cloudflare CDN का डेटा सेन्टर वेबसाइटों की प्रदर्शन और विश्वसनीयता में सुधार लाता है और लाखों वेबसाइट और ब्लॉग के सिक्योरिटी को बढ़ाता है, ताकि वेबसाइटों पर होने वाले हमले को रोक जा से।

Cloudflare CDN का इस्तेमाल कौन कर सकता है?


कोई भी वेबसाइट और ब्लॉग का मालिक जो अपनी वेबसाइट और ब्लॉग की सिक्योरिटी और प्रदर्शन को बढ़ाना चाहते हैं, वो Cloudflare CDN का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका बेसिक सर्विस फ्री है, जिसके लिए कोई पैसे नहीं लगते हैं।

Cloudflare CDN

वर्डप्रेस ब्लॉग, किसी भी प्रकार का CMS सिस्टम, व्यक्तिगत वेबसाइट, कोई बड़ी कंपनी की वेबसाइट, ईकॉमर्स साइट आदि किसी भी प्रकार के वेबसाइटों के लिए Cloudflare CDN को एक्टिवेट किया जा सकता है। अधिकतर होस्टिंग कंपनियों के C पैनल में Cloudflare पहले से उपस्थित रहता है, जहाँ से आप फ्री में Cloudflare को एक्टिवेट कर सकते हैं। Cloudflare साइट को साइन-अप करके भी इसके CDN को एक्टिवेट किया जा सकता है।

Cloudflare CDN को कैसे एक्टिवेट करें?


Cloudflare CDN को एक्टिवेट करना बहुत हीं सहज है। सबसे पहले आपको Cloudflare साइट पर जाकर एक एकाउंट खोलना पड़ता है। इसके बाद वहाँ अपने वेबसाइट या ब्लॉग के यूआरएल को ऐड कर दें। अब Cloudflare आपको एक DNS एड्रेस देगा, जिसे आपके वेबसाइट के C पैनल में लॉगिन करके होस्टिंग वाले डोमेन के DNS से बदल देना है।

How to Setup Cloudflare CDN for WordPress Blog – justbrightme.com

जैसे अगर आपकी साइट ब्लू होस्ट के द्वार इनस्टॉल है, तो इसके C पैनल ने लॉगिन कर लेने के बाद जो आपका मेन डोमेन है, उसका डिफ़ॉल्ट DNS हटाकर Cloudflare वाला DNS डाल देना है। इसके बाद कुछ हीं देर में आपका वेबसाइट Cloudflare CDN के द्वारा निर्देशित हो जाएगा।

Cloudflare  CDN का इस्तेमाल हमारे वेबसाइट के लिए कितना फायदेमंद है?

01. Cloudflare फ्री और इस्तेमाल में आसान है।

Cloudflare CDN की सबसे अच्छी बात ये हैं कि यह बेसिक यूजर के लिए फ्री है, इसके इस्तेमाल के लिए किसी भी प्रकार का सब्सक्रिप्शन नहीं लगता है। इसके साथ हीं किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग पर इसके CDN को इनस्टॉल करना भी बहुत आसान है।

02. वेबसाइट की सुरक्षा में बृद्धि

Cloudflare CDN के इस्तेमाल से किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग पर सिक्योरिटी की दुहरी परत चढ़ जाती है। स्पैम के हमले, Dos और DDoS के हमले, SQL इंजेक्शन, स्पैम कमेंट आदि को रोककर और फिल्टर कर Cloudflare हमारे वेबसाइट की सुरक्षा को ज्यादा बढ़ा देता है।

Cloudflare के इस्तेमाल से हमारा IP एड्रेस छुपा रहता है। इसलिए किसी भी हैकर्स के लिए सर्वर पर हमला करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

03. यूजर के इस्तेमाल में सहयोग करना

किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग का स्पीड उसके रैंकिंग पर असर डालता है। इसलिए यदि इसे लोड होने में कम समय लगेगा, तो यह वेबसाइट या ब्लॉग के यूजर को साइट पर ज्यादा देर तक रोके रखने में मदद करेगा। साथ हीं बेहतर स्पीड और प्रदर्शन के कारण दूसरी बार भी ये यूजर वेबसाइट पर आ सकते हैं।

04. फ्री में SSL सर्टिफिकेट की सुविधा

गूगल SSL वाले वेबसाइट को ज्यादा महत्व देता है, और SSL वाले साइट को बेहतर रैंक प्रदान करता है। इसलिए यदि आप Cloudflare का  इस्तेमाल करते हैं, तो SSL सर्टिफिकेट खरीदने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। केवल आपको Cloudflare में लॉगिन करके crypto सेक्शन के SSL के flexible वाले ऑप्शन को स्लेक्ट कर लेना है। इसके बाद आपकी साइट https और सिक्योर दिखाने लगेगी।

05. सर्वर के लोड को कम करना

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग का कॉन्टेंट एक बार कैच्ड हो जाने से साइट की स्पीड तो बेहतर होती हीं है। साथ हीं यह सर्वर पर पड़ने वाले लोड की मात्रा और आपके खरीदे गए बैंडविड्थ को भी कम कर देता है। जिससे वेबसाइट अच्छी प्रदर्शन करती है।

06. सर्वर के विलंबता को कम करना

यदि आपका सर्वर भारत मे स्थित है, पर आपके विज़िटर्स अमेरिका और यूरोप से भी आ रहें हैं। तो इससे आपके डिफ़ॉल्ट सर्वर को लोड होने में ज्यादा समय लगेगा, क्योंकि आपका सर्वर उस देश मे स्थित नहीं होता है।

इस प्रकार वेबसाइट का स्टेटिक कॉन्टेंट कैच्ड हो जाने से, और उन देशों में उपस्थित Cloudflare के नजदीकी डेटा सेन्टर के द्वारा हमारी वेबसाइट सर्व कराने की वजह से सर्वर में आने वाला विलंबता कम हो जाता है।

07. अचानक ट्रैफिक में ज्यादा बृद्धि और ट्रैफिक बिस्फोट हो जाना

ऑनलाइन कोई बड़ी खबर या घटना या अपने ही कोई खलबली मचा देने वाले पोस्ट से यदि हमारी वेबसाइट पर अचानक बहुत बड़ी ट्रैफिक आने लगती है, या कहिए ट्रैफिक बिस्फोट हो जाता है। तो ऐसे हालात में हमारा डिफ़ॉल्ट सर्वर उतना सक्षम नहीं होता है कि अतिरिक्त आए इस ट्रैफिक के दबाब को झेल सके, और इस कारण हमारी साइट क्रैश हो जाएगी। वेबसाइट बहुत डाउन हो सकती है।

अतः इससे बचने के लिए यदि हम अपने ब्लॉग और वेबसाइट के सामने एक गार्ड की तरह Cloudflare CDN का इस्तेमाल करते हैं। तो यह हमारी वेबसाइट के क्रैश होने की संभावना और डाउन हो जाने की संभावना को बहुत कम कर देगा।

08. कैच्ड कॉन्टेंट

हमारी वेबसाइट के स्टैटिक कॉन्टेंट स्थाई होते हैं, जो बहुत कम बदलते हैं। जैसे, CSS, जावास्क्रिप्ट, फ़ोटो आदि। अतः इन सभी का कैश होना किसी भी वेबसाइट की स्पीड में बहुत सुधार लाता है।

Cloudflare के कैचिंग फीचर का इस्तेमाल करके अपनी वेबसाइट की कॉन्टेंट को कैश किया जा सकता है। जिससे पेज का लोडिंग टाइम कम हो जाता है। इसके साथ हीं बैंडविड्थ का इस्तेमाल कम होता है, और सर्वर में होने वाले CPU का इस्तेमाल भी कम हो जाता है।

09. वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करना

Clouflare में वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए बहुत से टूल्स मौजूद हैं। जिनका इस्तेमाल करके वेबसाइट को डेक्सटॉप और मोबाइल दोनें के लिए, दिखने में बेहतर तथा लोडिंग जल्दी होने के लिए ऑप्टिमाइज़ किया जा सकता है। जैसे, स्पीड के लिए ऑटो मिनिफाई, AMP, Rocket Loader। कैचिंग के लिए, पर्ज कैश, कैचिंग लेवल आदि। फ़ायरवॉल के लिए, सिक्योरिटी लेवल आदि।

इस प्रकार Cloudflare के ऐसे बहुत से फीचर हैं, जो हमारी वेबसाइट की स्पीड, प्रदर्शन, सिक्योरिटी आदि बढ़ाने में बहुत सहयोगी हैं। अतः एक सिक्योरिटी की दृष्टि से देखा जाए, तो प्रत्येक वेबसाइट में Cloudflare CDN जरूर होने चाहिए।

1 thought on “Cloudflare CDN क्या है? यह किसी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए क्यों फायदेमंद है?”

Leave a Comment