Google Account Security के लिए 10 जरुरी प्राइवेसी और सिक्योरिटी सेटिंग्स।

Google Account Security कितना सक्षम है अकाउंट को सिक्योर करने में?


अभी देखा जाए तो हम सभी के पास एंड्राइड डिवाइस है। एंड्राइड डिवाइस है, तो हम प्ले-स्टोर का जरुर हीं इस्तेमाल करेंगे। पर इसके इस्तेमाल के लिए Google Account का होना बहुत जरुरी है। क्योंकि Google Account के बिना प्ले-स्टोर को एक्सेस करना सम्भव नहीं है। अब बात आती है कि आपका Google Account Security कितना पावरफुल और सिक्योर है। क्योंकि इस अकाउंट में बहुत सारी इनफार्मेशन और डेटा स्टोर रहता है। इस अकाउंट का हैक होने का मतलब है, हमारी सारी जानकारी का लीक हो जाना।

गूगल आए दिन अकाउंट की सिक्यूरिटी पर लगातार काम कर रहा है। ताकि इसे अधिक से अधिक सुरक्षित बनाया जा सके। इस पोस्ट में हम इसी विषय के बारे में जानेंगे कि Google Account को अधिक से अधिक कैसे सिक्योर किया जाए। क्योंकि आप एंड्राइड की सिक्यूरिटी से अच्छी तरह वाकिफ होंगे, इसे हैक करना बहुत मुश्किल काम नहीं है। अतः इस पोस्ट में हम Google Account Security और उसके प्राइवेसी सेटिंग्स के बारे में जानेंगे। 

अगर हम ईमेल के लिए Gmail का, इन्टरनेट ब्राउज़िंग के लिए Google Crome का, और ऐसे मोबाइल या डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं, जिसका ऑपरेटिंग सिस्टम ‘एंड्राइड’ है। तो हमें सोचने की जरुरत है कि हमारी इनफार्मेशन और गोपनीयता कितनी सुरक्षित है।

अगर Gmail Account में बैंक का स्टेटमेंट आता है, Google Photo का यूस करते हैं और ऑफिस के जरुरी फाइल और डाक्यूमेंट्स ऑनलाइन Google Drive में स्टोर करते हैं। तो मान लीजिए किसी भी वक्त ये सारी इनफार्मेशन और डेटा किसी गलत हाथों में पड़ जाए, तो हम किसी बड़ी मुशीबत में पड़ सकते हैं। परन्तु हमें डरने की जरुरत नहीं है, क्योंकि टेक-जायंट ने ऐसी उपाय कर रखी है कि अकाउंट को हैक करना बहुत हीं मुश्किल काम है।

Google Input Tool क्या है? इसे कंप्यूटर में कैसे इनस्टॉल करें और टाइप करें?

हमें केवल यह काम करना होगा कि जितने भी अकाउंट की सिक्यूरिटी और सुरक्षा के लिए गूगल ने उपाय किए हैं। उन सभी उपायों को अच्छी तरह से फॉलो करना है। क्योंकि हममें से अधिकतर सुरक्षा के इन उपायों पर ध्यान नहीं देते हैं। और यही कारण बन जाता है अकाउंट हैक होने का, हमारी महत्त्वपूर्ण इनफार्मेशन लीक होने का। अतः जान लेते हैं Gmail और Google Account को अधिक से अधिक सिक्योर कैसे किया जा सकता है। 

1. Google Account Security के लिए 2 स्टेप वेरिफिकेशन द्वारा साइनिंग करना


समान्य तौर पर गूगल में हम ईमेल आईडी और पासवर्ड के द्वारा लॉगइन करते हैं। परन्तु 2 स्टेप वेरिफिकेशन मेथड में Gmail और Google Account के लिए सुरक्षा की एक और परत जुर जाती है। जहां हम लॉगइन ईमेल और पासवर्ड के साथ हीं साथ रजिस्टर मोबाइल में भेजे गए OTP को वेरीफाई करने के बाद हीं करने में सक्षम होते हैं।

इस प्रकार 2 स्टेप वेरिफिकेशन Gmail और Google Account Security के लिए बेहतर ऑप्शन है। क्योंकि अगर कोई ईमेल आईडी और पासवर्ड जान भी ले परन्तु मोबाइल में भेजे गए OTP के बिना, Google Account को एक्सेस नहीं कर सकता है। इसके लिए आपको जाना होगा साइन इन & सिक्यूरिटी में। जैसे कि आप निचे देख पा रहे होंगे, 2 स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ है।

Google Account


Google Account Security 2 step verification

इस पेज के गेट स्टार्टेड बटन को क्लिक कीजिए।

Mobile Aert for Google Account Security

यहाँ आप कंट्री सेलेक्ट करके अपना मोबाइल नंबर डाल दीजिए। जिस मोबाइल नंबर में हमेशा OTP प्राप्त करना चाहते हैं। जो मोबाइल नंबर आपका प्राइमरी नंबर है। अब आपको चुनना है कि कोड को कैसे प्राप्त करना चाहते हैं? टेक्स्ट मेसेज के द्वारा या फ़ोन कॉल के द्वारा। जो ऑप्शन आपको पसंद है, उसे क्लिक करके सेलेक्ट कर लीजिए।

गूगल अकाउंट

मोबाइल में आए OTP को एन्टर कर, नेक्स्ट बटन को क्लिक कर दीजिए।

जीमेल और गूगल अकाउंट

अब टर्न ऑन बटन को क्लिक का दीजिए।

जीमेल और गूगल अकाउंट

अब आपका Google Account,  2 स्टेप वेरिफिकेशन के द्वारा सुरक्षित हो चूका है। अब जब कभी भी अपने Gmail या Google Account में लॉग इन करने का प्रयास करेंगे। तो आपके मोबाइल में आए कोड के द्वारा अकाउंट को वेरीफाई करना होगा, तभी आप लॉगइन करने में सक्षम होंगे।

2. Google Account Security की दृष्टि सेरिकवरी के लिए मोबाइल नंबर और ईमेल को अपडेट करना


पहले बताए गए सिक्यूरिटी ऑप्शन से ज्यादा महत्वपूर्ण अकाउंट रिकवरी है। क्योंकि अगर अकाउंट रिकवरी के लिए ईमेल और मोबाइल नंबर सेट नहीं किए हैं। तो कहीं ऐसा न हो कि आपको फिर से एक नए Google या Gmail Account बनाने की जरुरत पड़े।

ऐसा बहुत बार हुआ है लोगों के साथ, कि वे अकाउंट तो बना लेते हैं। पर अकाउंट रिकवरी के लिए मोबाइल नंबर और ईमेल को अपडेट नहीं करते हैं। जब पासवर्ड भूल जाए हैं और रिकवरी ऑप्शन में जाते हैं। तो उस समय गूगल, अकाउंट वेरिफिकेशन के लिए ईमेल या फिर मोबाइल नंबर मांगता है। तो दे नहीं पाते हैं और उस अकाउंट से हाथ धोना पड़ता है। इन्हीं कारणों से अकाउंट रिकवरी को अपडेट करना सबसे ज्यदा आवश्यक हो जाता है।

गूगल अकाउंट रिकवरी इनफार्मेशन

सबसे पहले गूगल माई अकाउंट सिक्यूरिटी में जाकर आपके व्यक्तिगत ईमेल और प्राइमरी मोबाइल नंबर को अपडेट कर दें। Google Account अभी हम सबके लिए बहुत महत्वपूर्ण हो गया है। यहाँ हमरी महत्वपूर्ण डेटा और इनफार्मेशन प्ले-स्टोर, गूगल ड्राइव, यूट्यूब, Gmail, गूगल प्लस आदि में स्टोर हो सकते हैं, जिसे बाद में रिकवर करना लगभग नामुमकिन है।

अगर प्ले-स्टोर से आपने कोई प्रो वर्शन का ऐप ख़रीदा है, तो इसे भी भूल जाना होगा। गूगल स्लाइड्स, गूगलशीट, गूगल डॉक्स आदि में आपका कोई ऑफिसियल जरुरी कागजात हैं, तो फिर ये सब को कैसे रिकवर करेंगे। इसलिए सबसे पहले गूगल रिकवरी में जाकर आपके प्राइमरी मोबाइल नंबर और दुसरे ईमेल आईडी को अपडेट कर दें।

3. Google Account Security के लिएकनेक्टेड ऐप्स और साईट को क्लीन करना


कभी कभी ऐसा होता है कि कोई ऐप या साईट लॉगइन के लिए Google Account का एक्सेस मांगता है। कुछ ऐसे साईट होते हैं जिनपर साइन करते समय हमें ऑप्शन दिखता है कि Gmail या फेसबुक अकाउंट के द्वारा भी लॉग इन कर सकते हैं। उस समय हम Gmail या फेसबुक के द्वारा लॉग इन करके अकाउंट एक्सेस की परमिशन उन सभी साइट्स और ऐप्स को दे देते हैं।

कुछ एंड्राइड गेम्स, एप्लीकेशन हमारे अकाउंट से कनेक्टेड होते हैं। यदि कोई साईट या ऐप्स को आपने पहले परमिशन दिया था। पर आपको याद नहीं या इनका जरुरत नहीं है, तो इन्हें अपने अकाउंट से तुरन्त रिमूव कर दें।

Remove Connected Apps and websites Google Account Security

यहाँ पर सारे ऐप्स का लिस्ट दिखाई देता है। जिन्हें आपको जरुरत नहीं है या जिनके बारे में आप नहीं जानते है। इन्हें तुरन्त गूगल के माई अकाउंट परमिशन में जाकर रिमूव कर दें। इन ऐप्स या साईट की वजह से भी Google Account Security खतरे में पड़ सकती है।

 गूगल अकाउंट कनेक्टेड ऐप

इस प्रकार Google Account से कनेक्टेड ऐप्स को क्लिक करके, इन्हें आसनी से हटा सकते हैं। आपके अकाउंट से कनेक्ट किसी भी ऐप्स के बारे में यदि कोई संदेह हो, तो उसे तुरन्त रिमूव करें। अगर किसी गलती की वजह से आपका जरुरी ऐप्स या साईट रिमूव हो जाता है। तो उस साईट या ऐप्स में जाकर फिर से अकाउंट एक्सेस की परमिशन दे सकते हैं।

4. Google Account Security के लिएडिवाइस एक्टिविटी और नोटिफिकेशन का ध्यान रखना


जब भी आप किसी डिवाइस से Google या Gmail Account में लॉगइन करते हैं। तो इन सभी गतिविधियों का रिकॉर्ड गूगल के पास स्टोर होता है। जिसे आप गूगल के माई अकाउंट के डिवाइस एक्टिविटी और नोटिफिकेशन सेक्शन के अंदर देख सकते हैं। यहाँ से उस डिवाइस को जरुरत के अनुसार रिमूव कर सकते हैं। जो डिवाइस गलत तरीके से आपके अकाउंट में एक्सेस करने की कोशिश करते हैं, उन्हें आप हटा सकते हैं।

Google Account Security for Device information

कुछ ऐसे डिवाइस जिसका अकाउंट लॉगइन के लिए सालों पहले इस्तेमाल किए थे, पर अब नहीं कर रहे हैं। तो ऐसे डिवाइसों को जल्द से जल्द अपनी अकाउंट से रिमूव कर दें। गूगल का यह ऑप्शन अकाउंट की सिक्यूरिटी के लिए बहुत अच्छा है। क्योंकि यहाँ पर जान लेते हैं कि किस डिवाइस से हमारे अकाउंट में एक्सेस करने की कोशिश की जा रही है।

इसके साथ हीं साथ गूगल हमें तुरन्त इस अनधिकृत एक्सेस को ईमेल या मेसेज के द्वार सूचित कर देता है। जिससे हम सजग हो जाते हैं। अतः गूगल ने कुछ ऐसी व्यवस्थाएं कर रखी है, जिससे अकाउंट को हैक करना या किसी गलत लोगों के हाथ लगना मुश्किल हो जाता है।

5. Google Account Security अलर्ट


Google Security Alert के अन्तर्गत किसी भी तरह की Google Account से सम्बंधित गलत गतिविधियाँ, अकाउंट हैकिंग होने का रिस्क, अन्य किसी प्रकार की अकाउंट एक्टिविटी आदि के बारे में गूगल ईमेल या मोबाइल में मेसेज भेजकर सूचित करता है। इस सेटिंग को आप गूगल के माई अकाउंट अलर्ट में देख सकते है। वहीँ से आप इसे डिफ़ॉल्ट सेटिंग भी कर सकते हैं।

Google Account Security Alert

इस सेटिंग को आप ठीक से जाँच कर लें। अकाउंट सम्बन्धी किसी भी गलत गतिविधियों की सूचना कहाँ प्राप्त करना चाहते है। ईमेल और टेक्स्ट मेसेज के लिए अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी अपडेट कर दें । ऊपर के स्क्रीन-शॉट में आप देख सकते हैं कि मैंने ईमेल और अपना मोबाइल नंबर दोनों को अपडेट कर दिया है।

गूगल का ये ऑप्शन भी Google Account Security और प्राइवेसी के लिए बहुत अच्छा है। इसलिए कि अगर गलत तरीके से कोई आपके अकाउंट को एक्सेस करने की कोशिश करता है। तो इसकी तुरन्त सूचना आपको मिल जाती है और अपने Google Account में जाकर सिक्यूरिटी सेटिंग को आप तुरन्त अपडेट कर सकते हैं।

6. गूगल स्मार्ट लॉक से वेबसाइट और ऐप्स को हटाना


हमारे द्वारा क्रोम और एंड्राइड ऐप्स में इस्तेमाल किए गए पासवर्ड, गूगल हमारे लिए गूगल स्मार्ट लॉक में सेव करके रखता है। ताकि अगली बार इन सभी वेबसाइट और एंड्राइड ऐप्स में लॉगइन करने में आसानी हो। ऑटो साइन के द्वारा जिन वेबसाइट और ऐप का लॉगइन पासवर्ड आपने गूगल स्मार्ट लॉक में सेव करके रखा था। उन सभी वेबसाइट और ऐप में आटोमेटिक लॉग इन कर सकते हैं।

Google Account Smart Lock

आप चाहें तो गूगल स्मार्ट लॉक फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं। जहां आपके प्रत्येक वेबसाइट और एंड्राइड ऐप्स का लॉगइन पासवर्ड सेव रहता है। किसी भी वेबसाइट और एंड्राइड ऐप्स में लॉगइन करते समय आपको पासवर्ड देने की जरुरत नहीं पड़ती है, आटोमेटिक लॉगइन हो जाता है।

अगर आप Google Account Security को अत्यधिक सिक्योर करना चाहते हैं, तो प्रत्येक एंड्राइड ऐप्स और वेबसाइट को मैन्युअली पासवर्ड के सहारे हीं लॉगइन करें। गूगल स्मार्ट लॉक में उपस्थित सभी वेबसाइट और ऐप्स को रिमूव कर दें। “स्मार्ट लॉक फॉर पासवर्ड” और “ऑटो साइन इन” को भी ऑफ का दें। इससे होगा यह कि Google Account Security की लीक होने का खतरा बहुत कम हो जाएगा।

7. Google Account Security लिए मजबूत और जटिल पासवर्ड तथा कुछ दिनों के अन्तराल में बदलते रहना


Gmail और Google Account में लॉगइन करते समय हम पासवर्ड का तो जरुर हीं इस्तेमाल करते हैं। परन्तु बात आती है कि ये पासवर्ड 12345, abcd, 00000, 1990, abcd1234, 1985abc आदि तो नहीं हैं। क्योंकि इन सभी पासवर्ड को आसानी से हैक किया जा सकता है। ऐसे अकाउंट पासवर्ड पर ज्यादातर गलत लोगों की नजरें रहती हैं। इससे बचने के लिए जरुरी है कि आपकी लॉगइन पासवर्ड कितनी जटिल और अनब्रेकेबल है।

Change Passwprd for Google Account Security

गूगल साईनिंग ऑप्शन में जाकर अपने पासवर्ड को बदल सकते हैं। पासवर्ड को जितना हो सके मजबूत और जटिल बनाए। अपरकेस A B C, लोवरकेस a b c, नंबर 1 2 3 स्पेशल कैरक्टर ! @ # आदि का इस्तेमाल करते हुए पासवर्ड को जितना मजबूत बनाएंगे। हैकर्स के लिए अकाउंट को हैक कर पाना उतना हीं मुश्किल होगा।

आपके ऑनलाइन जितने भी अकाउंट हैं। उन सभी के लिए अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल करें। अगर सभी अकाउंट के लिए एक हीं तरह का पासवर्ड इस्तेमाल करते हैं। और ये पासवर्ड किसी के हाथ लग जाता है, तो फिर आपके सारे अकाउंट की सिक्यूरिटी खतरे में पर सकती है।

पासवर्ड को कुछ दिनों के अन्तराल में बदलते रहना चाहिए। क्योंकि लगातार एक हीं पासवर्ड का बहुत दिनों तक इस्तेमाल करना ऑनलाइन सिक्यूरिटी की दृष्टि से सही नहीं होता है। मजबूत पासवर्ड के लिए ऑनलाइन पासवर्ड जेनरेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

8. अपनी गोपनीयता को सुरक्षित रखना


प्रायः गूगल हमारी हर गतिविधियों पर नजर रखता है। अतः हम चाहेंगे कि Gmail और Google Account Security के साथ हीं साथ हमारी गोपनीयता की भी रक्षा की जा सके। गूगल सर्च इंजन में हम कुछ भी सर्च करते हैं, यूट्यूब पर विडियो देखते हैं, गूगल मैप से कोई लोकेशन ढूंढने की कोशिश करते हैं। हमारी इन सारी सर्च हैबिट के बारे में गूगल अच्छी तरह से जनता है। इसके साथ हीं साथ इस सर्च हैबिट के डेटा को कलेक्ट करके रखता है।

 Activity Contro for Google Account Security

अगर आप चाहते हैं कि गूगल आपकी कुछ गतिविधियों के बारे में इनफार्मेशन या डेटा कलेक्ट न करे, तो उस सेटिंग को आप ऑफ कर सकते हैं।

गूगल अकाउंट एक्टिविटी कण्ट्रोल

इसी तरह लोकेशन हिस्ट्री, डिवाइस इनफार्मेशन, वोइस एंड ऑडियो एक्टिविटी, यूट्यूब सर्च हिस्ट्री, यूट्यूब वाच हिस्ट्री आदि को ऑफ कर सकते हैं। अगर आप चाहते हैं कि इनमें से किसी भी एक्टिविटी का डेटा और इनफार्मेशन गूगल के पास स्टोर न हो, तो आप आसानी से इन्हें ऑफ कर सकते हैं।

अब बात आती है कि इन सारी जानकारियों को गूगल किस तरह से इस्तेमाल करता है। जैसे कि हम जानते हैं, यूट्यूब में जिस विडियो को हम देखते हैं और लाइक करते हैं। उसी तरह के विडियो गूगल हमारे लिए लता है। गूगल के पास हमारी व्यक्तिगत जानकारियां कितनी सिक्योर है, गूगल का प्राइवेसी पालिसी पढ़ सकते हैं। विस्वास की भी बात है कि हम गूगल पर कितना भरोसा करते हैं। फिर भी यदि अपनी गोपनीयता की रक्षा की जाए तो ज्यादा महत्वपूर्ण है। क्योंकि प्राइवेसी लीक होना कोई बड़ी बात नहीं है।

9. Google Account Security के लिएएंड्राइड डिवाइस मेनेजर वाले ऑप्शनको एक्टिवेट करें


एंड्राइड मोबाइल के “एंड्राइड डिवाइस मेनेजर” को एक्टिवेट कर अपनी व्यक्तिगत जानकारियां और डेटा को किसी गलत हाथों में जाने से बचाया जा सकता है। जैसे कि आपका मोबाइल खो जाता है या फिर चोरी हो जाता है। उस समय आप क्या कर सकते हैं? अगर पे एटीएम में पैसें हैं, तो गायब हो सकते हैं। मोबाइल के सारे डिटेल्स, बैंक आदि के सीक्रेट मेसेज गायब हो सकते हैं। इसलिए Google Account Security के इस फंक्शन को जरूर एक्टिवेट करना चाहिए।

ऐसी और भी बहुत सारी जानकारियां हैं, जिन्हें हम मोबाइल में सेव करके रखते हैं। अब आप हीं बताइए ये सारी डेटा किसी गलत या दुसरे के हाथों में जाए, तो आप क्या फील करेंगे। ये हम और आप सोच सकते हैं। हमारी सारी प्राइवेसी, बैंक डिटेल लीक हो जाने का खतरा मडराने लगता है। इसके लिए आपको एंड्राइड डिवाइस के सेटिंग में जाना है।

सेटिंग ⇒ गूगल ⇒ सिक्यूरिटी ⇒ एंड्राइड डिवाइस मेनेजर ⇒ दोनों ऑप्शन को ऑन कर दीजिए

  1. रिमोट लोकेट दिस डिवाइस
  2. अलाउ रिमोट लॉक एंड इरेस
गूगल अकाउंट एंड्राइड डिवाइस मैनेजर

“रिमोट लोकेट दिस डिवाइस” के द्वारा लोकेशन को ट्रैक किया जा सकता है। वहीँ “अलाउ रिमोट लॉक एंड इरेस” के द्वारा तुरन्त अपने डिवाइस को लॉक कर सकते हैं। साथ हीं साथ इसे फैक्ट्री रिसेट भी कर सकते हैं। ये दोनों फीचर एंड्राइड डिवाइस की सिक्यूरिटी और प्राइवेसी के लिए बहुत हीं ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।

10. गूगल फाइंड माई डिवाइस


गूगल फाइंड माई डिवाइस फीचर के द्वारा डिवाइस को ऑनलाइन लॉक कर सकते हैं। इसके सारे डेटा को इरेस कर फैक्ट्री रिसेट कर सकते हैं।

google account security for find my device

इस प्रकार कोई भी डिवाइस खो जाए या फिर चोरी हो जाए, तो हमें डरने या चिंता करने की जरुरत नहीं है। क्योंकि इस फीचर के द्वारा हम ऑनलाइन अपने डिवाइस की सही लोकेशन का पता लगा सकते हैं। लॉक कर सकते हैं। डिवाइस के सभी डेटा को तुरन्त डिलीट कर सकते हैं। प्ले साउंड के द्वारा अगले 5 मिनटों तक लगातार रिंगटोन को बजा सकते हैं। अतः एंड्राइड डिवाइस के इस फीचर से हमारा Gmail, Google Account , एंड्राइड मोबाइल सभी सुरक्षित रहते हैं।

आए दिन हम ख़बरों में अकाउंट हैकिंग, डेटा हैकिंग, वेबसाइट हैकिंग होने की ख़बरें देखते हैं। इसलिए हमें कोशिश करनी होगी कि Google Account Security ज्यादा मजबूत और डिवाइस ज्यदा से ज्यादा सिक्योर रहें। हमारी गोपनीय जानकारियां गलत लोगों के पहुँच से बहुत दूर रहे। हैकिंग होने की संभावनाएं कम हो जाए।

अतः इस पोस्ट में मैंने Gmail और Google Account को ज्यादा से ज्यादा सिक्योर करने के बारे में बताया है। इन सेटिंग्स से आप अपने Google Account और एंड्राइड डिवाइस दोने को सुरक्षित कर सकते हैं।

2 thoughts on “Google Account Security के लिए 10 जरुरी प्राइवेसी और सिक्योरिटी सेटिंग्स।”

Leave a Comment