Readable Blog Post कैसे लिखें? – आपकी हिन्दी के 8 टॉप सलाह।

Readable ब्लॉग पोस्ट कैसा होता  है?

एक readable blog post ऐसा होना चाहिए जिसे पढ़ने और समझने में बहुत हीं आसानी हो। मोबाइल या कंप्यूटर के स्क्रीन पर किसी चीज को पढ़ना आसान काम नहीं होता है। अगर जरुरत नहीं हो, तो हम किसी भी चीज को नहीं पढ़ना चाहते हैं। अगर आप चाहते हैं कि लोग आपके पुरे पोस्ट को पढ़े, तो पोस्ट पढ़ने लायक अथवा readable  होना चाहिए। एक readable blog post को इस तरह से लिखना चाहिए कि एक बच्चा भी पढ़े, तो उसे आसानी से समझ में आ जाए कि पोस्ट किस विषय के बारे में है।

SEO friendly Blog Post कैसे लिखें ? – आपकी हिन्दी के 12 श्रेष्ट सलाह।

अगर एक Readable Blog Post रोचक और आकर्षक होगा, उसकी भाषा बहुत आसान होगी, तभी लोग दोबारा आपके  ब्लॉग पर आएँगे और आपके पोस्ट को पढ़ना चाहेंगे। पहले आपको समझना होगा कि ब्लॉग किस विषय के बारे में है? किन लोगों के लिए है? अगर केवल डॉक्टर, इंजीनियर, प्रोफेसर, जैसे लोगों के लिए है, तो लिखने की भाषा को उनके लिए बना सकते हैं। पर मुझे नहीं लगता है कि एक उलझे हुए और कठिन भाषा में कोई भी पोस्ट लिखना readable Friendly Blog Post होगा। 

आपस में बात-चित करते समय हम किसी ऐसे शब्द का इस्तेमाल नहीं करते हैं, जो सामने वाले को समझ में न आए। उसी तरह अगर पोस्ट में हम किसी ऐसे शब्द का इस्तेमाल करते हैं, जिसका मतलब बहुत किसी को समझ में नहीं आता है। तो अब आप हीं सोचिए पोस्ट को पढ़ते समय डिक्शनरी लेकर बैठना पड़ेगा। इसलिए पोस्ट लिखते समय ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करें, जिसका मतलब अधिकतर लोग जानते हों। 

तो दोस्तों इस पोस्ट में हम यही जानेंगे कि एक readable blog post कैसा होना चाहिए? इसे लिखते समय हमें किन-किन विशेष बातों पर ध्यान देना चाहिए। 

01. Readable Blog Post के लिए पैराग्राफ का सही से इस्तेमाल करना

Readable Blog Post के लिए छोटे पैराग्राफ और वाक्य

छोटे-छोटे पैराग्राफ का इस्तेमाल करते हुए लिखना, पोस्ट को काफी आकर्षक और SEO FRIENDLY Blog Post बना देता है। एक रिसर्च में पता चला है की रीडर पोस्ट का लगभग 50% भाग हीं पढ़ते हैं। ये डेटा भी अनुमानित है। किसी भी पोस्ट और आर्टिकल को शायद इससे भी कम पढ़ा जाता है।

अगर कोई एक हीं पैराग्राफ का इस्तेमाल करते हुए 700 शब्दों का पोस्ट लिख देता हैं, तो यह पोस्ट एक readable blog post नहीं होगा। क्योंकि बड़े पैराग्राफ रीडर को डराते हैं और इसलिए वे जल्दी पोस्ट को क्लोज भी कर देते हैं। बड़े पैराग्राफ के मुकाबले छोटे पैराग्राफ ज्यादा रीडर फ्रेंडली होते हैं तथा रीडर द्वारा इसे पढ़ा भी जाता है।  

इसलिए महत्वपूर्ण वाक्य से कोई भी पैराग्राफ शुरू कीजिए, और इसे 5 से 7 वाक्यों के अन्दर खत्म कर दीजिए।  इस पैराग्राफ में टॉपिक से सम्बंधित नए विचार का जरूर उल्लेख कीजिए। जिससे रीडर को टॉपिक को समझने में कोई दिक्कत न हो। अगर फिर कुछ नया चीज बताना चाहते हैं, तो फिर एक नए पैराग्राफ में लाइन शुरू करके लिखिए। 

हर पैराग्राफ के पहले वाक्य में कुछ नए विचार को उल्लेख करते हुए लिखिए। जिससे रीडर को पढ़ कर आसानी से समझ में आ जाए कि आप क्या बताना चाहते हैं। इस प्रकार छोटे-छोटे पैराग्रापफ का इस्तेमाल करते हुए लिखना, पोस्ट और आर्टिकल को एक reader friendly blog post बना देता है।

Yoast SEO 20 से ज्यादा शब्दों के इस्तेमाल को बहुत बड़ा वाक्य मानता है। इसके Readability सेटिंग को ऑन कर आप देख सकते हैं। जहाँ ये हमें बताता है कि एक पोस्ट का Readability कैसा होना चाहिए। पोस्ट में कौन-कौन से चीज को इस्तेमाल करते हुए लिखना चाहिए।

02. Readable Blog Post के लिए छोटे – छोटे वाक्य का इस्तेमाल करना 

पोस्ट को लिखते समय छोटे-छोटे वाक्य का इस्तेमाल करना चाहिए। छोटे-छोटे वाक्यों को हम बहुत आसनी से समझ लेते हैं। जबकि बड़े वाक्य को पढ़ कर समझने में परेशानी होती है। बड़े वाक्य को लिखते समय ग्रामर सम्बन्धी गलती होने का भी डर रहता है।

इस प्रकार अगर आप एक readable blog post लिखना चाहते हैं, तो आपको छोटे-छोटे और सटीक वाक्यों का इस्तेमाल करते हुए लिखना चाहिए। क्योंकि ये पढ़ने और समझने में बहुत सहज हो जाते हैं, और पोस्ट का मतलब भी हमें आसानी से समझ में आने लगता है।

03. Readable Blog Post के लिए Font का सही साइज चुनना 

अधिकतर ब्लॉगर font चुनते समय गलती कर देते हैं। वे अपने ब्लॉग के लिए बहुत छोटे font चुन लेते हैं। छोटे font को पढ़ना बहुत मुश्किल होता है। 

Readable Blog Post के लिए font चुनना

पोस्ट को पढ़ते समय स्क्रीन को जूम इन और जूम आउट करना पड़ता है। ज्यादा छोटे font वाले ब्लॉग पोस्ट को दर्शक नहीं पढ़ना चाहते हैं। इसलिए कि ऐसे font वाले ब्लॉग हमारी आखों के लिए सही नहीं होते हैं। अधिक छोटे font होने की वजह से इसे पढ़ते समय हमारी आँखों पार ज्यादा दबाव पड़ता है।

प्रोफेशनल ब्लॉगर अपने ब्लॉग में एक स्टैण्डर्ड font का इस्तेमाल करते हैं। जो न ज्यादा बड़ा होता है, और न ज्यादा छोटा होता है। इसलिए आपको अपने ब्लॉग के लिए एक सही साइज का font चुनना चाहिए। क्योंकि ऐसे font हीं सही में readable blog post होते हैं।

किसी पोस्ट का कन्टेन्ट चाहे कैसा भी हो, अगर सही आकार के font का यूस नहीं हुआ है। तो उस पोस्ट को reader friendly नहीं कहा जाएगा। पोस्ट कितना हीं बड़ा क्यों न हो, दर्शक ऐसे पोस्ट को स्किप करके किसी दूसरे पोस्ट पर चले जाते हैं। इसलिए आप अपने ब्लॉग के लिए एक स्टैण्डर्ड font चुनिए।

04. मुश्किल शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना 

पोस्ट लिखते समय मुश्किल शब्दों का जितना हो सके कम व्यवहार कीजिए। चार या इससे ज्यादा अक्षर वाले शब्दों को मुश्किल शब्द कहा जाता है, और ऐसे शब्दों को पढ़ना भी मुश्किल हो सकता है। इसलिए ऐसे शब्दों के इस्तेमाल से बचना चाहिए। मुश्किल शब्दों का अर्थ भी सभी को पता नहीं होत है, और इन्हें पढ़ना भी आसान नहीं होता है।

कभी-कभी पोस्ट लिखते समय कुछ ऐसे शब्दों की आवश्यकता होती है। जो मुश्किल होते हैं, उस समय आप चाहें तो इन्हें इस्तेमाल कर सकते हैं। पर ऐसे शब्दों के नजदीकी और आसान अर्थ वाले शब्दों को ब्लॉग पोस्ट में यूस करें तो ज्यादा बेहतर होता है। जैसे मुश्किल शब्द के बदले कठिन, जटिल और पेचीदा आदि।

05. Readable Blog Post के लिए टेक्स्ट को सही पंक्ति में रखना

एक पोस्ट के टेक्स्ट को सही पंक्ति में रखना चाहिए। तभी पोस्ट को पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं होती है, और पोस्ट को रीडर फ्रेंडली माना जाता है।

Readable Blog Post का गलत और सही एलाइनमेंट

बाएँ तरफ के टेक्स्ट को पढ़ना बहुत मुश्किल हो सकता है, क्योंकि टेक्स्ट इधर-उधर हो गए हैं। इसलिए पैराग्राफ और वाक्य को एक पंक्ति में रहना बहुत जरुरी है। बाएँ तरफ के टेक्स्ट का कोई एलाइनमेंट नहीं है। इसलिए इस तरह के टेक्स्ट को पढ़ते समय गलती हो सकती है।

दाहिने तरफ के टेक्स्ट को एक परफेक्ट एलाइनमेंट में रखा गया है, जिसे पढ़ना बहुत हीं आसान है। इसलिए एक readable blog post लिखने के लिए टेक्स्ट को सही एलाइनमेंट में रखना बहुत जरुरी है।

6. Readable Blog Post के लिए Heading टैग्स का यूस करना

बिना Heading टैग्स का कोई भी post readable नहीं होगा। Heading से टेक्स्ट को अलग-अलग श्रेणी में बाँटा जा सकता है। Heading 1 का इस्तेमाल पोस्ट के टाइटल के लिए होता है। इसलिए फिर से आपको Heading 1 का व्यवहार नहीं करना चाहिए।

Heading 2, Heading 3, Heading 4 और Heading 5 का इस्तेमाल आप अपने ब्लॉग पोस्ट में कर सकते हैं। Heading के इस्तेमाल से पोस्ट रीडर फ्रेंडली तो होता हीं है, सर्च इंजन को भी समझने में मदद करता है कि पोस्ट किस विषय के बारे में है। पोस्ट लिखते समय हैडिंग टैग्स को एसेन्डिंग आर्डर में इस्तेमाल करना चाहिए। जैसे, Heading 2, Heading 3

वर्डप्रेस के किसी-किसी थीम में Heading 2 डिफ़ॉल्ट रूप से पोस्ट का टाइटल होता है। उस समय Heading 1 को पोस्ट के सब-हैडिंग के लिए इस्तेमाल करें।

7. Bullet और Numer लिस्ट का इस्तेमाल करना

एक Readable Blog Post लिखने के लिए Bullet और नंबर लिस्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है। ये किसी बड़े कॉन्टेंट को आसानी से अलग-अलग भागों में बाँट देते हैं।

  • ये कॉन्टेंट को पढ़ने में बहुत आसान बना देता है।
  • ये किसी भी बड़े इनफर्मेशन को छोटे-छोटे सेक्शन में बाँट देते हैं, जिससे कॉन्टेंट को पढ़ना आसान हो जाता है।
  • नंबर लिस्ट से हम किसी चीज की विशेषताओं को सीरियल नंबर, 1, 2, 3, आदि के द्वारा समझने में सक्षम होते हैं।
  •  किसी महत्वूर्ण सूचना को छोटे-छोटे वाक्य में देना चाहते हैं, तब नंबर लिस्ट या बुलेट लिस्ट का व्यवहार करना ठीक होता हैं।
  • बुलेट और नंबर लिस्ट के इस्तेमाल से कोई भी जानकारी आकर्षक हो जाती है, जिसे दर्शक जरुर देखना और पढ़ना पसन्द करते हैं।

08. Readable Blog Post लिखते समय वेरिएशन और मिश्रण लाना

एक Readable Blog Post लिखते समय उसमें वेरिएशन और मिश्रण होना बहुत जरुरी होता है। कभी-कभी ऐसा होता है कि एक हीं  शब्द का बार-बार इस्तेमाल करना पड़ता है। उस समय समानार्थी शब्द काम में आ सकते हैं। जैसे इस्तेमाल करने के स्थान पर उपयोग करना, काम में लाना, प्रयोग करना, व्यवहार करना आदि एक समान अर्थ वाले शब्दों के द्वारा पोस्ट में वेरिएशन और मिश्रण ला सकते हैं।

एक readable blog Post रोचक और आकर्षक होना चाहिए। तभी इसे लोगों के द्वारा पढ़ा जाएगा और शेयर किया जाएगा।

Leave a Comment